khas log

vmbechainblogspot.com

Monday, 27 June 2011

शादीशुदा ओरता मैं बचपन त ऐ दीवाना सु.

प्रेमिका ने प्रेमी ते पूछा
मेरे लिए न्यू कबतक आहे भरोगे
सच बताओ क शादी के बाद भी न्यू ऐ प्यार करोगे
सुनके प्रेमी न फरमाया नखरे तेरे सरे उठाऊंगा
जिंदगी भर तन्ने न्यू ऐ चाहूँगा
क्यू के मैं तेरी महोबत का फसाना सु
आर रही बात शादी के बाद की
तो शादीशुदा ओरता ka मैं बचपन त ऐ दीवाना सु.

No comments: