khas log

vmbechainblogspot.com

Friday, 6 January 2012

जाट के आगे भुत भी नाचे सै

एक बारी, एक जाट नें शमशानघाट में हल जोड़ दिया भूत किते बाहर जा रह्या था. भूतनी जाट न डरावन खातर कांव कांव करण लागी. पर जाट ने कोई परवाह कोणी करी. आख़िर भूतनी बोली “तू यो के करह सै” जाट बोल्या “में उरे बाजरा बोवुंगा” भूतनी बोली “हम कित रहंगे” जाट बोल्या “मनें ठेका नि ले राख्या. भूतनी बोली “तू म्हारे घर का नास मत करै, हाम तेरे घर में 100 मण बाजरा भिजवा दयांगे”. जाट बोल्या “ठीक सै लेकिन तड़की पूंचना चाहिए नि तो में आके फेर हल जोड़ द्यूंगा” शाम नै भुत घर आया तो भूतनी बोली आज तो नास होग्या था. न्यूं न्यूं बणी अर जाट 100 मण बाजरे में मसाए मान्या. भुत ने भोत गुस्सा आया और बोल्या तने क्यों ओट्टी, मन्ने इसे जाट भोत देखे सै. मन्ने उसका घर बता में उसने इब सीधा कर दयुन्गा. अर भुत जाट कै घर चल्या गया. जाट कै घर में एक बिल्ली हील री थी. वा रोज आके दूध पी जाया करदी. जाट नै खिड़की में एक सिकंजा लगा लिया और रस्सी पकड़ के बैठ ग्या अक आज बिल्ली आवेगी और मैं उसने पकडूँगा. भुत नै सोची तू खिड़की मैं बड़के जाट ने डरा दे. वो भीतर नै सीर करके खुर्र-खुर्र करण लाग्या आर जाट नै सोची – बिल्ली आगी. उसने फट रस्सी खिंची आर भुत की नाड़ सिकंजा मैं फस गी आर वो चिर्र्र – चिर्र्र करण लाग ग्या. जाट बोल्या रै तू कोण सै ? वो बोल्या मैं भुत सूं. जाट बोल्या उरै के करे सै ? भुत बोल्या “मैं तो न्यू बुझंन आया था एके तू 100 मण बाजरे मैं मान ज्यागा अके पूली भी साथै भिजवानी सै? ठीक कही सै – जाट के आगे भुत भी नाचे सै

मर जायेगी पर किसी गरीब के काम ना आयेगी ...

 भिखारी ...एक लङकी से

क्या तुम मुझ से शादी करोगी !

लङकी ...शक्ल देखी है अपनी आईने मेँ
तुम से शादी करने से अच्छा तो मेँ फांसी पर लटक जाऊँ

भिखारी ...हे राम ,मर जायेगी पर किसी गरीब के काम ना आयेगी ...

झूठ पकड़ने वाला रोबोट

एक आदमी झूठ पकड़ने वाला रोबोट
खरीद कर लाया जो आदमी को झूठ
बोलने पर थप्पड़ मारता था उसने रात
के खाने के समय पर इसका परीक्षण
करने की सोची!बाप: बेटा, आज तुम स्कूल के समय पर कहाँ थे?बेटा: स्कूल में ही था पापा!
रोबोट ने बच्चे को थप्पड़ मार दिया!बेटा: बताता हूँ!
दोस्त के साथ डी.वी.डी पर पिक्चर देख रहा था!बाप:
कौन सी?बेटा: कुंग -फु -पंडा!रोबोट ने फिर से बच्चे
को थप्पड़ मार दिया!बेटा: ठीक है बताता हूँ, ये एक
अश्लील पिक्चर थी!बाप: क्या? जब मैं तुम्हारी उम्र का था तो मुझे पता भी नहीं था की ऐसी पिक्चर
भी होती है! रोबोट ने बाप को एक थप्पड़ मार दिया!माँ:
हा हा हा कर हंसने लगी, आख़िरकार बेटा तो ये
तुम्हारा ही है न!और रोबोट ने माँ को थप्पड़ मार दिया

क्यूं इसकी के आंख दुखणी आ री है।

हरियाणा में जब एक कंडक्टर ने बकाया राशि देते हुए एक गला हुआ सा दस का नोट किसी सवारी को दिया
तो सवारी बोली - ये नोट बदल दो।

उसकी बात सुनकर कंडक्टर ने ताना मारा -
क्यूं इसकी के आंख दुखणी आ री है।