khas log

vmbechainblogspot.com

Monday, 27 June 2011

माल

बचा अपने आप ने दोस्त भूचाल आवे स
नजर उठा के देख स्यामी एक माल आवे स
दोस्त ने सिर उठाया अर फरमाया
चोरी वास्तव में ऐ भूचाल स
या तो चलता फिरता माल स
पर ध्यान ते देख इसके चेहरे की रंगत उतर स
अर माल पे ध्यान आया न्यू बता आजकल भाभी के कर री स

No comments: